Army Chief MM Naravane

थलसेना प्रमुख जनरल एम एम नरवणे (Manoj Mukund Naravane) ने कहा कि पाकिस्तान (Pakistan) के साथ भले ही युद्धविराम (Ceasefire) समझौता हो चुका हो लेकिन अभी भी एलओसी (LoC) पर पाकि‌स्तान की तरफ 350-400 आतंकी भारत में घुसपैठ करने के लिए तैयार बैठा है. जनरल नरवणे ने कहा कि आतंकियों की इतनी बड़ी तादात पाकिस्तान के नापाक इरादों को उजागर करती है.

सेना दिव‌स ‌(15 जनवरी) से पहले थलसेना प्रमुख बुधवार को सालाना प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित कर रहे थे. इस दौरान उन्होनें कहा कि पिछले साल यानि फरवरी 2021 में भारत और पाकि‌स्तान के डीजीएमओ के बीच एलओसी पर युद्धविराम समझौते को लेकर दोनों देशों के लिए फायदा रहा है और लंबे समय तक शांति रही है. एलओसी पर सिवाए दो युद्धविराम की उल्लंघन की घटनाओं को छोड़कर शांति रही है.

हालांकि, थलसेना प्रमुख ने यह भी साफ किया कि एलओसी पर पाकि‌स्तान की तरफ अलग-अलग लॉन्च पैड पर 350-400 आतंकी अभी भी मौजूद है जो लगातार घुसपैठ की कोशिश कर रहे हैं. इससे पाकिस्तान के गलत इरादों के बारे में पता चलता है. जनरल नरवणे ने कहा कि भारत की आतंकवाद के प्रति ‘जीरो टोलरेंस’ नीति रही है.

उन्होंने कहा कि अगर आतंकवाद को भारत पर थोपने की कोशिश हुई तो इसकी बड़ी कीमत पाकिस्तान को चुकानी पड़ेगी. एलओसी और बॉर्डर पर ड्रोन के इस्तेमाल को लेकर थलसेना प्रमुख ने कहा कि इनका इस्तेमाल हथियारों की स्मगलिंग और लॉजिस्टिक के लिए ज्यादा किया जा रहा है.

By Newzzar

Leave a Reply

Your email address will not be published.