Sonu Sood will challenge the decision of Bombay High Court in this way

बॉलीवुड स्टार सोनू सूद अब पंजाब में वोटिंग आइकन नहीं होंगे. सोनू सूद को वोटिंग प्रतिशत बढ़ाने के उद्देश्य से राज्य का वोटिंग आइकन बनाया गया था. भारतीय चुनाव आयोग (ECI) ने अभिनेता सोनू सूद की पंजाब के लिए स्टेट आइकन के रूप में नियुक्ति वापस ले ली है. जानकारी देते हुए पंजाब के मुख्य चुनाव अधिकारी (CEO) डॉ एस करुणा राजू ने पुष्टि की कि चुनाव आयोग ने 4 जनवरी 2022 को पंजाब के राज्य आइकन के रूप में अभिनेता सोनू सूद की नियुक्ति को वापस ले लिया है.

वहीं इस फैसले पर सोनू सूद ने लिखा सभी अच्छी चीजों की तरह, यह यात्रा भी समाप्त हो गई है. मैंने स्वेच्छा से पंजाब के स्टेट आइकन का पद छोड़ दिया है. यह निर्णय मेरे और चुनाव आयोग द्वारा पारस्परिक रूप से मेरे परिवार के सदस्य द्वारा पंजाब विधानसभा चुनाव लड़ने के आलोक में लिया गया था. मैं उन्हें भविष्य के प्रयासों के लिए शुभकामनाएं देता हूं.

दरअसल सोनू सूद की बहन मालविका इस बार चुनाव लड़ने वाली हैं, सोनू सूद ने इसका एलान में मोगा में किया था. हालांकि फिलहाल सोनू सूद किसी भी राजनीतिक पार्टी से नहीं हैं, लेकिन उनके चुनाव मैदान में उतरने के बाद आयोग ने इस तरह का फैसला लिया है. बॉलीवुड स्टार सोनू सूद लगातार राजनीति में अपनी दिलचस्पी जाहिर कर चुके हैं.

By Newzzar

Leave a Reply

Your email address will not be published.