PM MODI

पीएम नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में ब्रिक्स का 13वां शिखर सम्मेलन का आयोजन हुआ. जिसमें पीएम मोजी ने कहा कि-  डेढ़ दशक में ब्रिक्स ने कई उपलब्धियां हासिल की हैं. उन्होंने कहा कि आज हम विश्व की उभरती अर्थव्यवस्थाओं के लिए एक प्रभावकारी आवाज़ है. विकासशील देशों की प्राथमिकताओं पर ध्यान केन्द्रित करने के लिए भी यह मंच उपयोगी रहा है.

ब्रिक्स में बोले पीएम मोदी- अगले 15 साल हमारे लिए अहम

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हमें यह सुनिश्चित करना है कि ब्रिक्स अगले 15 वर्षों में और परिणामदायी हो. भारत ने अपनी अध्यक्षता के लिए जो थीम चुना है, वह यही प्राथमिकता दर्शाता है- “BRICS at 15: इंट्रा-ब्रिक्स निरंतरता, एकजुटता और सहमति के लिए सहयोग”. उन्होंने कहा कि हाल ही में पहले “ब्रिक्स डिजिटल हेल्थ सम्मेलन” का आयोजन हुआ. टेक्नोलॉजी की मदद से स्वास्थ्य सेवा तक पहुंच बढ़ाने के लिए यह एक इनोवेटिव कदम है. नवंबर में हमारे जल संसाधन मंत्री ब्रिक्स फॉर्मेट में पहली बार मिलेंगे.

पीएम मोदी ने आगे कहा कि यह भी पहली बार हुआ कि BRICS ने “Multilateral systems की मजबूती और सुधार” पर एक साझा पॉजिशन ली है. उन्होंने कहा कि हमने ब्रिक्स “Counter Terrorism Action Plan” भी अडॉप्ट किया है.

रूस के राष्ट्रपति ने कहा- अफागनिस्तान न बने पड़ोस के लिए खतरा

ब्रिक्स शिखर सम्मेलन को संबोधित करते हुए रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा कि अमेरिका के जाने से अफगानिस्तान पर संकट है. उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान पड़ोसी देशों के लिए खतरा न हो, हमारे सामने सुरक्षा की नई चुनौतियां हैं, आतंकवाद पर नियंत्रण जरूरी है.

शिखर सम्मेलन में चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग, रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा और ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोलसोनारो ने हिस्सा लिया. बैठक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हो रही थी. इस साल शिखर सम्मेलन संयोग से ब्रिक्स की 15वीं वर्षगांठ के मौके पर हुआ.

यह दूसरी बार है जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ब्रिक्स शिखर सम्मेलन की अध्यक्षता की है. इससे पहले उन्होंने 2016 में गोवा में शिखर सम्मेलन की अध्यक्षता की थी. जबकि, यह तीसरी बार है जब भारत 2012 और 2016 के बाद ब्रिक्स शिखर सम्मेलन की मेजबानी की.

By Newzzar

Leave a Reply

Your email address will not be published.