Unemployment in the country

भारत में बेरोजगारी दर अगस्त में एक बार फिर से बढ़ गई है. CMIE की मासिक डेटा के मुताबिक देश में अगस्त माह में बेरोजगारी दर 8.32 फीसदी रही. जुलाई में जॉब मार्केट में थोड़ा सुधार देखा गया था, जो कि अगस्त में एक बार फिर से मुश्किल में दिखा.

सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी (CMIE) के रिपोर्ट के मुताबिक अगस्त में देश की बेरोजगारी दर 8.32 फीसदी रही, जबकि जुलाई में यह 6.95 फीसदी थी.

अगस्त में फिर बढ़ी शहरी बेरोजगारी दर

CMIE के डेटा के मुताबिक अगस्त में शहरी बेरोजगारी दर लगभग 1.5 फीसदी बढ़कर 9.78 फीसदी हो गया. जुलाई में देश में शहरी बेरोजगारी दर 8.3 फीसदी थी. इसी तरह ग्रामीण बेरोजगारी दर भी अगस्त में 1.3 फीसदी बढ़कर 7.64 फीसदी हो गया. जुलाई में यह 6.34 फीसदी था.

कोरोना की दूसरी लहर ने बिगाड़ा जॉब मार्केट

कोरोना महामारी के बाद देशभर में लगे लॉकडाउन के बाद से भारत में जॉब मार्केट पर संकट बरकरार है. हालांकि मार्च 2021 तक स्थिति में सुधार देखी जा रही थी. लेकिन कोरोना की दूसरी लहर के बाद से एक बार फिर जॉब मार्केट पर स्ट्रेस दिखने लगा. मार्च, 2021 में बेरोजगारी दर जहां 6.50 फीसदी थी. वह अप्रैल में बढ़कर 7.97, मई में 11.90 फीसदी और जून में 9.17 फीसदी थी.
शहरी बेरोजगारी दर मार्च में 7.27 फीसदी थी, जो कि अप्रैल में बढ़कर 9.78 फीसदी, मई में 14.73 फीसदी और जून में 10.07 फीसदी थी. वहीं मार्च, 2021 में ग्रामीण बेरोजगारी दर 6.15 फीसदी थी, जो कि अप्रैल में बढ़कर 7.13 फीसदी, मई में 10.63 फीसदी और जून में 8.75 फीसदी बेरोजगारी दर थी.

राज्यों की स्थिति

राज्यों की बात करें तो हरियाणा बेरोजगारी में देश में शीर्ष पर रहा. जहां अगस्त में बेरोजगारी दर 35.7 फीसदी रही. इसके बाद राजस्थान 26.7 फीसदी और झारखंड में बेरोजगारी दर 16.0 फीसदी रही.

By Newzzar

Leave a Reply

Your email address will not be published.