corona vaccination in india

भारत के औषधि महानियंत्रक (DGCI) ने कोवैक्सिन और कोविशील्ड के मिक्स डोज़ लगाने को लेकर स्टडी करने की इजाजत दे दी है. सूत्रों का कहना है कि यह स्टडी और इसके क्लीनिकल ट्रायल वेल्लोर के क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज द्वारा आयोजित किए जाएंगे.

सीडीएससीओ की एक विषय विशेषज्ञ समिति ने दोनों वैक्सीन के मिश्रण के लिए 29 जुलाई को अध्ययन करने की सिफारिश की थी. बता दें यह स्टडी इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) के उस स्टडी से अलग होगी, जिसमें कहा गया था कि दो कोविड टीकों को मिलाने से बेहतर सुरक्षा और इम्युनोजेनेसिटी मिलती है.

यह है Study का मकसद
इस स्टडी का मकसद यह पता लगाना है कि क्या फुल वैक्सीनेशन कोर्स पूरा करने के लिए किसी व्यक्ति को एक खुराक कोवैक्सीन और दूसरी खुराक कोविशील्ड की दी जा सकती है. यह प्रस्तावित स्टडी हाल ही में इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) द्वारा की गई स्टडी से अलग है. अपनी स्टडी के आधार पर आईसीएमआर ने कहा था कि कोवैक्सीन और कोविशील्ड को मिलाकर दिए जाने से बेहतर परिणाम दिखे हैं.

बढ़ते मामलों से Alert हुई सरकार
कोरोना वायरस के मामलों में एक बार फिर से आई तेजी से सरकार अलर्ट हो गई है. कई देशों में कोरोना के डेल्टा वैरिएंट के चलते संक्रमण की रफ्तार बढ़ी है. पूरी दुनिया को कोरोना महामारी की आग में धकेलने वाला चीन भी परेशानी में घिर गया है. वहां इन्फेक्शन रोकने में नाकाम अधिकारियों को चुन-चुनकर सजा दी जा रही है. अब तक करीब 30 अधिकारियों पर चीन ने कार्रवाई की है. चीन में बिगड़ते हालात से भारत सहित तमाम देश टेंशन में आ गए हैं.

By Newzzar

Leave a Reply

Your email address will not be published.