कोरोना महामारी के कारण एक साल देरी से शुरू हुए टोक्यो ओलंपिक का उद्घाटन समारोह हुआ, आम तौर पर उद्घाटन समारोह और देश भर के एथलीटों का मार्चपास्ट ओलंपिक खेलों के मुख्य आकर्षणों में से एक है, लेकिन इस बार कोरोना के चलते कार्यक्रम में 1000 खिलाड़ी और अधिकारी ही मौजूद हैं. अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति का अनुमान है कि दुनिया भर में लगभग 350 मिलियन लोग टीवी, स्मार्टफोन और लैपटॉप जैसे उपकरणों पर उद्घाटन समारोह देख रहे हैं.

एथलीटों का मार्च 1986 में पहली ग्रीष्मकालीन ओलंपिक खेलों की मेजबानी करने वाले ग्रीक दल के साथ शुरू हुआ था। जिसके बाद शरणार्थी खिलाड़ियों ने मार्च किया, मार्चपास्ट में खिलाड़ी भारतीय टीम में 21वें स्थान पर रहे, भारतीय टीम के मार्च पास्ट में खिलाड़ी और अधिकारी समेत 25 सदस्य शामिल थे.

इस बार ओलम्पिक में 33 खेलों में लगभग 11,238 एथलीट 339 स्वर्ण के लिए होड़ में हैं, उद्घाटन समारोह में जापान के सम्राट नारुहितो भी शामिल होंगे.

स्टेडियम के बाहर विरोध प्रदर्शन

टोक्यो निवासी कोरोना काल में हो रहे ओलंपिक का विरोध कर रहे हैं, साथ ही शुक्रवार को भी प्रदर्शनकारी उद्घाटन समारोह से पहले मुख्य स्टेडियम के बाहर जमा हो गए और ओलंपिक के विरोध में नारेबाजी की.

By Newzzar

Leave a Reply

Your email address will not be published.