anil ambani

इजरायल की कंपनी NSO के स्पाई सॉफ्टवेयर Pegasus की लिस्ट में दो और बड़े नाम सामने आए हैं. समाचार पोर्टल द वायर के अनुसार, जासूसी सूची में व्यवसायी अनिल अंबानी और पूर्व सीबीआई प्रमुख आलोक वर्मा भी शामिल हैं.

रिपोर्ट्स के मुताबिक, आलोक वर्मा को 2018 में केंद्र सरकार ने सीबीआई के पूर्व अध्यक्ष पद से हटा दिया था. कुछ ही समय बाद वर्मा का नाम पेगासस की सूची में जुड़ गया. अनिल अंबानी और अनिल धीरूभाई अंबानी (एडीए) समूह के कॉर्पोरेट संचार अधिकारी, टोनी जेसुदासन, उनकी पत्नी का नाम भी सूची में शामिल थे.

हालांकि, रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि इस बात की पुष्टि नहीं हो सकी है कि अनिल अंबानी फिलहाल उसी फोन नंबर का इस्तेमाल कर रहे हैं या नहीं. एडीए ने अभी तक इस मामले पर कोई टिप्पणी नहीं की है.

राफेल के अधिकारियों के फोन भी शामिल थे

रिपोर्ट के अनुसार, 2018 और 2019 में अलग-अलग अवधि के लिए लीक हुए आंकड़ों में भारत में डसॉल्ट एविएशन (राफेल विमान) के प्रतिनिधि वेंकट राव पोसीना, साब इंडिया के प्रमुख इंद्रजीत सियाल और बोइंग इंडिया के प्रमुख प्रत्यूष कुमार के नंबर भी शामिल थे. लीक हुए डेटा में फ्रांस की कंपनी एनर्जी ईडीएफ के प्रमुख हरमनजीत नेगी का फोन भी शामिल है.

दलाई लामा के सलाहकार व एनएससीएन नेता भी हो सकते हैं पेगासस के शिकार

वहीं तिब्बती धर्मगुरु दलाई लामा के सलाहकारों और नगालिम राष्ट्रीय समाजवादी परिषद (एनएससीएन) के कई नेताओं के नाम शामिल हैं. इसके अलावा दुबई की राजकुमारी शेख लतीफा के कई करीबियों की जासूसी की भी संभावना जताई गई है. रिपोर्ट के मुताबिक एनएसओ समूह के निशाने पर भारत में निर्वासित सरकारों के अध्यक्ष, एक दूसरे आध्यात्मिक बौद्धिक नेता के स्टाफ लोबसांग सांगे और ग्यालवांग करमापा का भी नाम आया है.

By Newzzar

Leave a Reply

Your email address will not be published.