Corona Virus Update

गांधीनगर : मुख्यमंत्री विजय रूपाणी की अध्यक्षता वाली कोर कमेटी में अहम फैसले लिए गए हैं. अब प्रदेश के सिर्फ 8 महानगरों में रात का कर्फ्यू लागू रहेगा. रात का कर्फ्यू 10 जुलाई 2021 को रात 10 बजे से 20 जुलाई 2021 को सुबह 6 बजे तक हर रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक लागू रहेगा. शादी के अवसर पर 150 लोगों को अनुमति दी जाएगी.

मुख्यमंत्री विजयभाई रूपाणी की अध्यक्षता में हुई कोर कमेटी की बैठक में पिछले कुछ दिनों से प्रदेश में रोजाना हो रहे कोरोना के मामलों में लगातार हो रही गिरावट और मौजूदा हालात की समीक्षा कर कुछ अहम फैसले लिए गए हैं.

मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में इस कोर कमेटी में लिए गए निर्णयों के अनुसार…

  • अब रात का कर्फ्यू राज्य के केवल 8 महानगरों- अहमदाबाद, वडोदरा, सूरत, राजकोट, भावनगर, जामनगर, जूनागढ़ और गांधीनगर में लागू होगा. इससे पहले इन आठ महानगरों सहित भुज, मोरबी, पाटन, मेहसाणा, भरूच, नवसारी, वलसाड, अंकलेश्वर और वापी में रात का कर्फ्यू लागू था.
  • इन आठ महानगरों में हर रात 10 जुलाई 2021 को रात 10 बजे से 20 जुलाई 2021 को सुबह 6 बजे तक रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक रात्रि कर्फ्यू रहेगा.
  • जिन शहरों में रात्रि कर्फ्यू लागू है, वहां सभी दुकानें, व्यावसायिक प्रतिष्ठान, लॉरी, शॉपिंग कॉम्प्लेक्स, मार्केटिंग यार्ड, साप्ताहिक गुजरी / बाजार / हाट, हेयर कटिंग सैलून, ब्यूटी पार्लर और अन्य व्यावसायिक गतिविधियाँ रात 9 बजे तक खुली रहेंगी.
  • रेस्तरां निर्धारित एस.ओ.पी के अधीन रहेगा. यह भी निर्णय लिया गया है कि सभी मालिकों, प्रबंधकों, कर्मचारियों के साथ-साथ ऑपरेशन में शामिल सभी व्यक्तियों को 31.03.2021 तक वैक्सीन की पहली खुराक लेनी होगी अन्यथा ऐसे रेस्तरां का रखरखाव नहीं किया जा सकता है.
  • रेस्टोरेंट रात्रि 12:00 बजे तक होम डिलीवरी की सुविधा दे सकेंगे.
  • जिम 60 प्रतिशत क्षमता के साथ कोरोना के दिशा-निर्देशों के अधीन निर्धारित एस.ओ.पी. के अधीन जारी रख सकेंगे.
  • सार्वजनिक उद्यानों को जनता के लिए रात में 9 घंटे के लिए निर्धारित एस.ओ.पी. के अधीन खुला रखा जा सकता है.
  • इस दौरान अधिकतम 150 व्यक्तियों को खुले या बंद स्थानों पर विवाह के लिए अनुमति दी जाएगी. डिजिटल गुजरात पोर्टल पर विवाह के लिए पंजीकरण का प्रावधान अपरिवर्तित है. अंतिम संस्कार/अंत्येष्टि के लिए अधिकतम 40 व्यक्तियों को अनुमति दी जाएगी.
  • सभी प्रकार के राजनीतिक, सामाजिक, शैक्षणिक, सांस्कृतिक, धार्मिक आयोजनों के साथ-साथ धार्मिक स्थलों पर भी निर्धारित एस.ओ.पी.खुले में अधिकतम 200 व्यक्तियों, बंद स्थानों में, स्थान की क्षमता का 50 प्रतिशत समायोजित किया जा सकता है.
  • कक्षा 9 से पोस्ट ग्रेजुएशन तक के कोचिंग/ट्यूशन कक्षाओं के लिए कोचिंग सेंटरों के साथ-साथ सभी प्रकार की प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए कोचिंग सेंटरों की क्षमता का अधिकतम 50 प्रतिशत स्थान के साथ जारी रखा जा सकता है.
  • सिनेमा थिएटर, ऑडिटोरियम, असेंबली हॉल, मनोरंजन स्थलों को अधिकतम 60 प्रतिशत क्षमता पर बनाए रखा जा सकता है.( वैक्सीनेशन का पहला डोज अनिवार्य)
  • 60 प्रतिशत क्षमता वाले पुस्तकालयों का अनुरक्षण निर्धारित एस.ओ.पी के अधीन किया जा सकता है.( वैक्सीनेशन का पहला डोज अनिवार्य)

By Newzzar

Leave a Reply

Your email address will not be published.