CORONA

राज्य में कोरोना की दूसरी लहर आने के बाद अब मामले धीरे-धीरे कम हो रहे हैं, वहीं, राज्य सरकार सरकार द्वारा लगाए गए कड़े प्रतिबंधों में धीरे-धीरे ढील दे रही है. सरकार की ओर से कल से कुछ रियायतें दी जा रही हैं, जिसमें राज्य में कार्यालय शुरू करना, एटीएम और बीआरटीएस बसें और अदालतों में ऑफलाइन सुनवाई शुरू करना शामिल है. तो आइए एक नजर डालते हैं कि कल से राज्य में क्या-क्या बड़े बदलाव हो रहे हैं.

स्कूलों में शुरू होगा शैक्षणिक कार्य

राज्य भर के स्कूलों में कल से नया शैक्षणिक सत्र शुरू हो जाएगा. शैक्षणिक वर्ष नया रहेगा लेकिन अध्ययन का तरीका पिछले वर्ष जैसा ही रहेगा. कोरोना का असर शिक्षा पर पड़ा है जिसके चलते पिछले साल पूरे शैक्षणिक सत्र के दौरान छात्रों को ऑनलाइन पढ़ाया जा रहा था और अब इस साल की शुरुआत भी ऑनलाइन शिक्षा से होगी,हालांकि, स्टाफ और शिक्षक स्कूल में मौजूद रहना चाहिए.

कार्यालयों में सो-प्रतिशत कर्मचारियों का स्टाफ रहेगा

डेढ़ महीने से ज्यादा समय से सरकारी-निजी दफ्तरों में 50 फीसदी स्टाफ रखा गया है. सोमवार से सभी दफ्तरों में पूरी तरह स्टाफ रहेगा. हालांकि कार्यालय में मास्क और सामाजिक दूरी के दिशा-निर्देशों का पालन करना अनिवार्य होगा.

AMTS-BRTS चल रहा होगा

AMC ने अहमदाबाद में AMTS और BRTS बसों को मार्च से ही रोक रखा था, जब कोरोना संक्रमण बेकाबू हो गया था. अब कोरोना नियंत्रण में आ गया है. सरकार ने आंशिक अनलॉक में भी ढील दी है. एएमसी अधिकारियों ने सोमवार से एएमटीएस और बीआरटीएस बसें शुरू करने का फैसला किया है. तय किया गया है कि जो बसें कोरोना के चलते रोकी गई थीं, वे अब नियमों के साथ 50 फीसदी क्षमता के साथ चलेंगी.

कोर्ट में शुरू होगी असल सुनवाई

हाईकोर्ट ने प्रदेश के सभी जिलों की अदालतों में सीधी सुनवाई शुरू करने का फैसला लिया है. वीडियो कांफ्रेंसिंग से सिर्फ माइक्रो कंटेनमेंट जोन में कोर्ट चलेंगे। गुजरात हाईकोर्ट की ओर से जारी सर्कुलर में चार अहम बातों का जिक्र था. सभी अदालतों को कोरोना को लेकर केंद्र और राज्य सरकारों के सभी दिशा-निर्देशों का पालन करना होगा.

गुजरात यूनिवर्सिटी में शत-प्रतिशत स्टाफ होगा

कोरोना के चलते गुजरात यूनिवर्सिटी 50 फीसदी स्टाफ के साथ काम कर रही थी. अब जब मामला कम हो गया है, तो 7 जून से गुजरात विश्वविद्यालय 100% कर्मचारियों की उपस्थिति के साथ काम करेगा. राज्य सरकार के सर्कुलर के बाद गुजरात यूनिवर्सिटी की ओर से एक सर्कुलर जारी किया गया है. सभी कर्मचारियों को कोरोना के सभी दिशा-निर्देशों का कड़ाई से पालन करना होगा.

By Newzzar

Leave a Reply

Your email address will not be published.