After Corona, which disease is bothering Gujarat?

गुजरात में पहली लहर नियंत्रण में थी, हालांकि फरवरी के बाद की दूसरी लहर ने घातक मोड़ ले लिया.वर्तमान में, मामलों और मौतों को आंशिक रूप से नियंत्रण में लाया गया है, हालांकि अभी भी लगभग दो हजार मामले प्रतिदिन सामने आ रहे हैं, अगर बात करें कोरोना की पहली और दूसरी लहर की तो 1 साल में 28 फरवरी तक कोरोना के 2.70 लाख मामले सामने आए. तब से पिछले तीन महीने में ही 5.37 लाख नए मामले दर्ज किए गए हैं.जिससे तीसरी लहर का अंदाजा लगाया जा सकता है कि यह कितनी घातक होगी. अब भी, कोरोना के मामले में आंशिक रूप से कमी आई है. पर अभी से फिर से पहले की तरह लोगो से समूह हर कही देखने मिल रहे है.

पहली और दूसरी लहर में दर्ज मामले

कोरोना की पहली लहर यानी 28 फरवरी तक गुजरात में 269889 मामले सामने आए, दूसरी लहर में अकेले पिछले 3 महीनों में 537599 मामलों की वृद्धि देखी गई है. यह दोगुना है. गुजरात में फिलहाल कोरोना के पॉजिटिव मामलों की संख्या 807488 पहुंच गई है. मार्च और अप्रैल में कोरोना के बढ़ते मामलों में अस्पतालों,सम्शानों, इंजेक्शनों तक ले जाने वाले मरीजों की कतारें भी देखी गईं.

कितने टेस्ट से कितने मामले सामने आए

गुजरात में पहली लहर यानी 28 फरवरी तक कुल 11739846 टेस्ट किए गए जिनमें 2.29 फीसदी पॉजिटिविटी रेट के साथ 269889 मामले सामने आए. जबकि पिछले तीन महीनों में 9939372 टेस्ट किए गए हैं, जिनमें से 5.40% की सकारात्मकता दर के साथ 537599 मामले सामने आए हैं.

By Newzzar

Leave a Reply

Your email address will not be published.