the intensity of tau-te will increase in 6 hours

भारत सरकार के गृह मंत्रालय में आपदा प्रबंधन प्रभाग-राष्ट्रीय आपातकालीन प्रतिक्रिया केंद्र के अनुसार, 6 घंटे में तूफान की तीव्रता बढ़ने की उम्मीद है. अगले 24 घंटों में तूफान और तेज होगा और गुजरात के तट की ओर बढ़ेगा. यह वर्तमान में वेरावल से 930 किमी दक्षिण और दक्षिण-पूर्व में है. यह 18 मई को दोपहर में पोरबंदर और नलिया के आसपास गुजरात के तट से टकराएगा.

हवाई अड्डों से सभी एहतियाती कदम उठाने का आग्रह किया

भारत के पश्चिमी तट पर आने वाले तूफान के मद्देनजर इस संबंध में जारी एक परिपत्र के अनुसार, भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण के वरिष्ठ प्रबंधन ने दिल्ली में कॉर्पोरेट मुख्यालय में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से पूर्वी क्षेत्र से पश्चिमी क्षेत्र की जानकारी प्राप्त की.

17 तारीख को भारी वर्षा की संभावना

तूफान के प्रभाव के बाद 16 तारीख से गुजरात के सौराष्ट्र के तटीय इलाकों में हल्की या मध्यम बारिश होगी, जबकि गिर सोमनाथ जूनागढ़ के कुछ इलाकों में 17 तारीख को भारी बारिश हो सकती है.18 तारीख को, सौराष्ट्र और कच्छ के कुछ क्षेत्रों जैसे पोरबंदर, देवभूमि, द्वारका, जामनगर और कच्छ में भारी बारिश होगी और 120 से 150 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं. तटीय क्षेत्र के मछुआरों को तूफान के मद्देनजर समुद्र की जुताई न करने को कहा गया है.

सौराष्ट्र में एनडीआरएफ की 15 टीमें तैनात की जाएंगी

सौराष्ट्र और दक्षिण गुजरात में, तंत्र द्वारा मछुआरों को तूफान और तटीय क्षेत्रों की संभावना के प्रति सतर्क किया गया है. एनडीआरएफ की टीमों को भी तैनात किया गया है.2-2 टीमें अमरेली, गिर सोमनाथ, पोरबंदर, देवभूमि द्वारका, जामनगर, राजकोट और कच्छ भेजी जाएंगी जबकि एनडीआरएफ की 1 टीम भावनगर भेजी जाएगी. जबकि कुछ टीमों को स्टैंड बाई पर रखा जाएगा. दूसरे राज्यों से एनडीआरएफ की करीब 15 टीमें जामनगर पहुंच चुकी हैं और वहां से टीम को दूसरे जिलों में भेजा जाएगा.

सौराष्ट्र और दक्षिण के तटीय गांवों को किया गया अलर्ट

सौराष्ट्र के भावनगर, पोरबंदर, अमरेली, गिर सोमनाथ, जामनगर, कच्छ के गांवों और दक्षिण गुजरात के तटीय गांवों समेत तटीय गांवों को अलर्ट कर दिया गया है. भरूच में, जिला हंसोट, जंबुसर और वागरा के 3 तालुकों के 29 गांवों को अलर्ट जारी किया गया है. संभावित तूफान के लिए सिस्टम को अलर्ट कर दिया गया है. भरूच जिले के 3 तालुकों के तट से लगे 29 गांवों को अलर्ट कर दिया गया है.

सौराष्ट्र के कई हिस्सों में हवामान में परिवर्तन

मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक ताऊ-ते तूफान के कारण 16 और 18 मई को सौराष्ट्र और कच्छ के कुछ हिस्सों में बारिश की संभावना है. विशेष रूप से अमरेली जिले में, तटीय तालुका जाफराबाद और राजुला में कुछ क्षेत्रों में बारिश और बादल छाए रहने की संभावना है.वर्तमान में, किसानों को अपनी फसलों जैसे लहसुन, ग्रीष्मकालीन बाजरा, चारा, सब्जियां और दालों के जोखिम को कम करने के लिए एहतियाती और सुरक्षा उपाय करने की आवश्यकता है.

By Newzzar

Leave a Reply

Your email address will not be published.