Toute storm increased

इस साल का पहला तूफान गुजरात से टकराने वाला है. तूफान गुजरात की ओर बढ़ रहा है, लक्षद्वीप क्षेत्र में आज सुबह डिप्रेशन हो गया है. जो अगले 12 घंटों में डीप डीप्रेशन में परिवर्तित होगा. 18 तारीख की सुबह तूफान गुजरात के तटीय इलाके में पहुंचेगा.

  • चक्रवात के परिणामस्वरूप सौराष्ट्र के सभी जिलों में सामान्य से भारी बारिश होने की संभावना है.
  • 16 तारीख से दीव और गिर-सोमनाथ में बारिश शुरू हो जाएगी.
  • उसके बाद सौराष्ट्र-कच्छ में भारी से बहुत भारी बारिश हो सकती है.
  • 16 से 18 तारीख तक भावनगर, जूनागढ़, पोरबंदर, गिरसोमनाथ, दीव, द्वारका, अमरेली में भारी से बहुत भारी बारिश होगी.
  • 18 तारीख को चक्रवात सौराष्ट्र में तटीय क्षेत्र में पहुँच जाएगा.
  • 18 तारीख को गुजरात के तटीय इलाके के आसपास 100 की रफ्तार से हवा चलेगी.
  • सभी तटीय मछुआरों को तूफान के बीच लौटने का निर्देश दिया गया है. साथ ही 16 तारीख से समुद्र में ना जाने का निर्देश दिया गया है, चक्रवात के कारण अहमदाबाद में सामान्य बारिश की संभावना है.
  • जाफराबाद की लगभग 700 नौकाओं का भूमध्य सागर में संपर्क टूट गया

जफराबाद के मछुआरों को कल अमरेली में तूफान के कारण नाव को लौटने का निर्देश दिया गया था, जाफराबाद से करीब 700 नावें अभी भी भूमध्य सागर में हैं. किससे संपर्क नहीं हो रहा है.बोट एसोसिएशन के अध्यक्ष कन्यालाल सोलंकी ने कहा कि सरकार ने बार-बार अभ्यावेदन दिया है कि बरसात के मौसम में वायरलेस बंद कर दिया जाता है. जिससे नाव समय पर नहीं पहुंच पाती है.अगर कोई सैटेलाइट फोन है तो मछुआरे तुरंत नावों से तट तक पहुंच सकते हैं.बोट एसोसिएशन समेत मछुआरे मछुआरों से संपर्क नहीं होने से चिंतित हैं.

By Newzzar

Leave a Reply

Your email address will not be published.