chattisgardh

छत्तीसगढ़ से सुकमा-बीजापुर में हुए नक्सलियों के हमले में सुरक्षाबलों के 22 जवान शहीद हो गए हैं. इस एनकाउंटर में 9 नक्सली भी मारे गए हैं. एक जवान अभी भी लापता हैं. इस हमले में कुल 32 जवान घायल हुए हैं.  25 जवानों का इलाज स्थानिक हॉस्पिटल में चल रहा है.

नक्सली पिछले कुछ दिनों से लगातार बीजापुर, सुकमा, कांकेर में कैंप कर रहे थे. उनकी संख्या 200 से 300 बताई जा रही थी. यह भी पता चला था कि नक्सलियों के कई डिविजनल कमांडर छत्तीसगढ़ के बीजापुर में कैंप कर रहे हैं. बीजापुर और सुकमा जिले से केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के कोबरा बटालियन, डीआरजी और एसटीएफ के संयुक्त दल नक्सलीयों के खिलाफ ऑपरेशन चला रहे थे.

22 जवानों की शहादत पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने संवेदना जताई है. राष्ट्रपति ने ट्वीट करके कहा,’छत्तीसगढ़ में माओवादी विद्रोह से जूझते हुए सुरक्षाकर्मियों की हत्या गहरी पीड़ा का विषय है. शोक संतप्त परिवारों के प्रति मेरी संवेदना. राष्ट्र उनके दर्द को साझा करता है और इस बलिदान को कभी नहीं भूलेगा.’

व्यर्थ नहीं जाएगा बिलदान- अमित शाह

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने इस मुठभेड़ में शहीद हुए जवानों के को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि देश उनके बलिदान को कभी भुला नहीं पाएगा. हम शांति और विकास के दुश्मनों से लगातार लड़ते रहेंगे.

By Newzzar

Leave a Reply

Your email address will not be published.