ATS

महाराष्ट्र सरकार ने ठाणे के व्यापारी मनसुख हीरेन की मौत की जांच एंटी टेररिस्ट स्क्वॉड को सौंप दी है. ATS ने रविवार को इस मामले में हत्या, आपराधिक साजिश और सबूत मिटाने का केस दर्ज किया.

मुंबई पुलिस ने केस से जुड़े सभी दस्तावेज ATS को सौंप दिए है. इस मामले में मनसुख की पत्नी विमला हीरेन की शिकायत पर हत्या का केस दर्ज किया गया है.

मनसुख की प्रारंभिक पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट भी आ गई है. इससे पता चला है कि उनकी बॉडी करीब 10 घंटे तक पानी में पड़ी रही थी. चेहरे और पीठ पर जख्मों के निशान भी मिले हैं.मनसुख का शव 5 फरवरी को ठाणे के करीब कलवा क्रीक में मिला था. पुलिस ने खुदकुशी की बात कही थी, लेकिन परिवार ने इससे इनकार किया था. मनसुख पिछले कुछ दिनों से जो कार चला रहे थे, वो 25 फरवरी को एंटीलिया से 200 मीटर की दूरी पर संदिग्ध हालात में मिली थी.

By Newzzar

Leave a Reply

Your email address will not be published.