Corona Vaccination Process

देश में 16 जनवरी को वैक्सीनेशन के पहले चरण का आगाज हुआ था. करीब डेढ़ महीने बाद अब इस महाटीकाकरण अभियान का दूसरा चरण आ गया है. इस चरण की खासियत ये है ये है कि इस बार आम लोग भी टीका लगवा पाएंगे, जबकि पहला चरण सिर्फ कोरोना के खतरे का सबसे ज्यादा सामना करने वाले स्वास्थ्य सेवा से जुड़े लोगों को समर्पित था. पहले चरण में टीका सिर्फ सरकारी केंद्रों पर लगाए जा रहे थे लेकिन इस बार निजी अस्पतालों को भी इसमें शामिल किया गया है.

कंगना रनौत की मुश्केलें बढ़ी, जावेद अख्तर से जुड़े मानहानि मामले में पेश ना होने के कारण गैर जमानती वारंट

अगर आप या आपके परिवार का कोई शख्स टीकाकरण के लिए जा रहा है तो कुछ जरूरी बातें ध्यान में रखनी होंगी.टीकाकरण केंद्र पर जाने से पहले यह दस्तावेज इकट्ठा कर लीजिए.

  • आधार कार्ड या वोटर आईडी कार्ड में से कोई एक देना होगा.
  • ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन में लिए आधार कार्ड या वोटर आईडी कार्ड नहीं है तो फोटो आईडी कार्ड देना होगा.
  • ये प्रक्रिया वैक्सीनेशन के रजिस्ट्रेशन के लिए है और रजिस्ट्रेशन के बाद वैक्सीनेशन केंद्र पर भी ऑफिशियल आईडी कार्ड दिखाना होगा.
  • 45 से 59 साल के लोगों को वैक्सीनेशन के लिए बीमारी का सर्टिफिकेट भी देना होगा.
  • वैक्सीनेशन के लिए बीमारी का सर्टिफिकेट भी देना होगा.
  • केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने 20 बीमारियों की लिस्ट जारी की है.
  • इन बीमारियों में डायबिटीज, हाइपरटेंशन,  ल्यूकेमिया बोन मेरो, किडनी, लीवर,और हार्ट शामिल हैं.

चीन की भारत विरुद्ध एक और चाल, सायबर अटैक की फिराक में चीन

वैक्सीनेशन रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया आसान

वैक्सीनेशन के लिए रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया भी अब आसान कर दी गई है. रजिस्ट्रेशन के लिए कोविन ऐप, आरोग्य सेतु ऐप की मदद ली जा सकती है. इसके अलावा ऑन साइट रजिस्ट्रेशन यानी आप वैक्सीन सेंटर पर जाकर खुद को रजिस्टर कर सकते हैं. यह सुविधा उन लोगों के लिए है, जिनके पास स्मार्टफोन या इंटरनेट की सुविधा नही है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक CoWIN पोर्टल (cowin.gov.in.) के माध्यम से भी कोरोना वायरस वैक्सीनेशन के लिए अपॉइंटमेंट ले सकते हैं. साथ ही मंत्रालय ने बताया कि आम लोगों के लिए कोई CoWIN ऐप नहीं है बल्कि प्ले स्टोर पर मौजूद ऐप सिर्फ एडमिनिस्ट्रेटर्स के लिए है.

प्राइवेट अस्पतालों में वैक्सीन के एक डोज के लिए 250 रुपये लिए जाएंगे, जिसमें 150 रुपये टीके और 100 रुपये सर्विस चार्ज के तौर पर होंगे. जबकि सरकारी सरकारी अस्पतालों में कोरोना का टीका मुफ्त में ही दिया जाएगा.

By Newzzar

Leave a Reply

Your email address will not be published.