uttrakhand

उत्तराखंड में आई तबाही के बाद राहत एंव बचाव का कार्य चल रहा है. वहीं अभी भी कुछ लोग टनल में फंसे हुए हैं. टनल खोलने के लिए एक्सावेटर और पोकलैंड मशीन लगाई गई है. रात को भी रेस्कयू जारी करने के लिए लाइट लगाई जा रही है. दरअसल, चमोली जिले के तपोवन क्षेत्र में रविवार सुबह लगभग 10 बजे के आसपास ग्लेशियर टूटने से ऋषिगंगा नदी पर बाढ आ गई.

जिसमे ऋषिगंगा पावर प्रोजेक्ट और तपोवन पावर प्रोजेक्ट बह जाने से जानमाल सहित तपोवन क्षेत्र में परिसंपत्तियों को भारी नुकसान हुआ है.

बताया जा रहा है कि जब यह बाढ आई उस समय ऋषिगंगा पावर प्रोजेक्ट मे 35 से 40 लोग काम कर रहे थे. जबकि तपोवन पावर प्रोजेक्ट में 178 वर्कर है. रविवार को 116 लोग तपोवन मे काम कर रहे थे.

By Newzzar

Leave a Reply

Your email address will not be published.