TERRIRIST

संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट में आतंकी हमलों को लेकर बड़ा दावा किया गया है. कहा गया है कि पिछले साल सिर्फ तीन महीने में हुए 100 से ज्यादा आतंकी हमलों के लिए आतंकी संगठन तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) जिम्मेदार है. इसने कई छोटे आतंकवादी समूहों को अफगानिस्तान में फिर से एकजुट करने का काम किया है. इससे अफगानिस्तान और उसके आसपास के क्षेत्र में खतरा बढ़ने का अंदेशा है.

बताया जा रहा है कि इन छोटे-छोटे आतंकवादी समूहों को अलकायदा संचालित कर रहा था. ‘‘एनालिटिकल सपोर्ट ऐंड सैंक्शंस टीम’’ की 27वीं रिपोर्ट में कहा गया है कि टीटीपी ने अफनानिस्तान में छोटे-छोटे आतंकी समूहों को कथित रुप फिर से एक करने का काम किया है, जिसका संचालन अलकायदा कर रहा था.

इससे अफगानिस्तान, पाकिस्तान और क्षेत्र में खतरा बढ़ने का अंदेशा है. उसमें कहा गया है कि जुलाई और अगस्त में पांच समूहों ने टीटीपी के प्रति निष्ठा का प्रण लिया था, जिसमें शेहरयार महसूद समूह, जमात-उल-अहरार, हिज्ब-उल-अहरार, अमजद फरूकी समूह और उस्मान सैफुल्लाह समूह (जिसे पहले लश्कर-ए-झांगवी के नाम से जाना जाता था) शामिल है.

By Newzzar

Leave a Reply

Your email address will not be published.