Demonstration of farmers on the border continues

26 जनवरी को दिल्ली और लाल किले में जो कुछ उपद्रव हुआ उसकी साजिश पहले से रची जा चुकी थी. ये खुलासा दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच की SIT की जांच में हुआ है. सूत्रों की माने तो उपद्रव के लिए कुछ खास ग्रुप को लाल किले में और आईटीओ पर इकट्ठा होने की हिदायत दी गई थी. जिनका मकसद केवल भीड़ में मौजूद रहकर उपद्रव की शुरुआत करना और फिर आंदोलनकारियों को भीड़ का हिस्सा बनाकर उन्हें भी उपद्रव में शामिल करना.

इकबाल सिंह ने उकसाया

पुलिस के सूत्रों के मुताबिक इकबाल सिंह नाम के जिस उपद्रवी जिसके उपर दिल्ली पुलिस ने 50 हजार का इनाम रखा है वह इस साजिश का एक बहुत बड़ा किरदार है. इकबाल सिंह ने लाल किले के अंदर भीड़ को जमा किया, भड़काया और लाहौर गेट तोड़ने के लिए उन्हें उकसाया. इकबाल सिंह के कहने पर ही उपद्रवियों ने लाल किले का लाहौर गेट तोड़ा और उनकी मंशा लाल किले की प्राचीर पर सबसे उपर अपने धर्म का झंडा फहराने की थी.

124 से ज्यादा लोग गिरफ्तार

सूत्रों का कहना है कि जिस वीडियो में इकबाल सिंह नजर आ रहा है उससे भी साफ है कि वो भीड़ को भड़का रहा था. इतना ही नहीं उसके साथ कुछ और लोग भी मौजूद थे वो सब भी ये ही काम कर रहे थे. दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच की SIT 26 जनवरी को हुई हिंसा की जांच कर रही है.

By Newzzar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *