kids from google

बच्चों को अगर सर्दी-जुकाम या फ्लू हो तो उनकी भूख पर असर पड़ना लाजमी है. फ्लू या सर्दी होने पर भूख का कम होना आम बात है. लेकिन ऐसी स्थिति में एनर्जी के लिए पर्याप्त मात्रा में खाना काफी जरूरी है. ऐसे में बच्चों को फ्लू से रिकवर करने के में छोटे-छोटे अंतराल पर सही खाना देना भी बेहद अहम है. आज हम आपको बताएंगे कि सर्दी के मौसम में आपके बच्चों के लिए क्या खाना सही है और क्या दिक्कत की वजह बन सकता है.

बच्चों ना खिलाए मीठी चीजें

सर्दियों में कई तरह के इनफेक्शन्स का खतरा बढ़ जाता है. अपने बच्चों को संक्रमण के खतरे से बचाने के लिए मीठी चीजों की मात्रा कम कर देनी चाहिए. आमतौर पर बच्चों के लिए ज्यादा मीठा पहले ही गलत माना जाता है. ज्यादा मात्रा में शुगर बच्चों में सफेद रक्त कणिकाओं की मात्रा कम कर देता है. जो संक्रमण और इससे जुड़ी बीमारियों का खतरा बढ़ा देता है. इस मौसम में सॉफ्ट ड्रिंक्स, कैंडीज, चॉतलेट्स जैसी चीजों को बच्चों को देने से परहेज करें.

दूध से बने उत्पादनो का मर्यादित उपयोग करें

दूध से बनी चीजों में एनीमल प्रोटीन की मात्रा काफी प्रचुर होती है. सर्दियों के मौसम में ये कंजेशन का कारण बन सकते हैं. जुकाम में दूध से बनी चीजें म्यूकस बढ़ने का कारण बन सकती हैं जो स्थिति को खराब कर सकता है. ऐसे में चीज, क्रीम, दूध, दही जैसी चीजों को बच्चों को देने से परहेज करें या फिर सीमित मात्रा में ही दें.

विटामिन की ज्यादा मात्रा न दे

हिस्टामिन एक ऐसा केमिकल है जो पेट से जुड़ी परेशानियों की वजह बन सकता है. वहीं सर्दियों में हिस्टामिन से भरपूर चीजों को खाना म्यूकस में बढ़ोतरी का कारण बनता है. जिससे आपके बच्चों की फ्लू, जुकाम के दौरान स्थिति बिगड़ सकती है. ऐसे में मेयोनीज,मशरूम, विनेगर, केला, सोया सॉस, अचार, स्ट्रॉबेरीज, पपीता, स्मोक्ड फिश, योगर्ट जैसी चीजों को बच्चों को देने से परहेज करें.

बच्चों का न दे तला हुआ खोराक

सर्दियों के दौरान फ्राइड फूड का इस्तेमाल स्लाइवा को गाढ़ा और ज्यादा म्यूकस पैदा कर सकता है. ऐसी स्थिति में फ्लू से जूझ रहे बच्चों की तबीयत और खराब हो सकती है. ऐसे में फ्राइड फूड को बच्चों को ना दें.

By Newzzar

Leave a Reply

Your email address will not be published.