73rd Foundation Day of the Indian Army

भारतीय सेना के लिए आज यानी 15 जनवरी का दिन बेहद खास है. भारतीय थल सेना आज के दिन को आर्मी डे के तौर पर मानती है. भारतीय सेना आज अपना 73वां स्थापना दिवस मना रही है. प्रधानमंत्री मोदी, चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत और थलसेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे ने इस अवसर पर अपनी शुभकामनाएं दी.

जनरल बिपिन रावत ने शहीदों को किया याद

जनरल बिपिन रावत ने कहा, आर्मी डे के अवसर पर आज हम देश के लिए शहीद हुए वीर सपूतों को नमन करते हुए श्रद्धा सुमन अर्पित करते हैं. उन्होंने कहा कि देश की रक्षा करते हुए अपना बलिदान देने वाले भारत मां के ये वीर सपूत हमें नयी ऊर्जा और दोगुने जोश के साथ कार्य करने की प्रेरणा देते हैं.

जनरल एमएम नरवणे ने भी दी बधाई

थलसेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे ने इस अवसर सेना के सभी जवानों, अधिकारियों और उनके परिजनों समेत सभी देशवासियों को आर्मी डे की बधाई दी. इस अवसर पर उन्होंने देश की सेवा में शहीद जवानों को भी याद किया और उनके परिवार के प्रति भी अपना सम्मान प्रकट किया.

क्यों मनाया जाता है ‘आर्मी डे’

15 जनवरी को आर्मी डे मनाने के पीछे दो बड़े कारण हैं. पहला ये कि 15 जनवरी 1949 के दिन से ही भारतीय सेना पूरी तरह ब्रिटिश थल सेना से मुक्त हुई थी. दूसरा, इसी दिन जनरल केएम करियप्पा को भारतीय थल सेना का कमांडर इन चीफ बनाया गया था. इस तरह लेफ्टिनेंट करियप्पा लोकतांत्रिक भारत के पहले सेना प्रमुख बने थे. केएम करियप्पा ‘किप्पर’ नाम से काफी मशहूर रहे.

By Newzzar

Leave a Reply

Your email address will not be published.