दिग्गज जोड़ी जावेद अख़्तर और शबाना आज़मी ने गुरुवार की शाम पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से उनके दिल्ली स्थित सरकारी आवास पर मुलाकात की. करीब आधे घंटे की इस मुलाकात के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी अपने इन दोनों अतिथियों को विदा करने घर के बाहर तक आईं.

बहुत खुश दिखी ममता बनर्जी
जावेद अख़्तर और शबाना आज़मी को विदा करने जब मुख्यमंत्री ममता बनर्जी अपने घर से बाहर निकलीं तो थोड़ी दूर लगे मीडिया के कैमरों की ओर खुद ही अपने इन अतिथियों को लेकर आ गईं. हालांकि ममता ने जावेद अख़्तर को कैमरों के आगे बोलने का मौका दिया और खुद उनके पीछे ही थोड़ा हट के मुस्कुराते हुए खड़ी रहीं.

जावेद अख़्तर से की खेला होबे पर गीत लिखने की मांग
पत्रकारों की ओर से जब जावेद अख़्तर से पूछा गया कि खेला होबे से आप क्या समझते हैं. यानी इस जुमले से आपका टेक अवे क्या है तो जावेद अख़्तर ने कहा कि अभी भी आप सबूत चाहते हैं क्या, अब ये तो हो चुका है. अब इसमें समझने जैसा क्या रहा. जावेद स्पष्ट जवाब नहीं दे पा रहे थे तो ये देख के ममता बनर्जी ने पीछे से ब्रीफ करते हुए और थोड़ा अनौपचारिक ढंग से कहा कि खेला होबे का मतलब ‘देश में परिवर्तन’ होना चाहिए और आप इस पर गाना लिखिए. इस पर वहां मौजूद सभी लोग हंसने लगे.

ममता बनर्जी के प्रधानमंत्री बनने की संभावना पर जावेद अख़्तर का जवाब
क्या ममता बनर्जी को अब देश की कमान संभालनी चाहिए? इस सवाल पर जावेद अख़्तर ने कहा कि ममता बनर्जी प्रधानमंत्री बनेंगी या नहीं ये बात उनकी प्रियॉरिटी में नहीं है. उन्होंने परिवर्तन का नारा दिया है उस पर बंगाल चल रहा है और वो चाहती हैं कि देश भी परिवर्तन की राह पर चले.

By Newzzar

Leave a Reply

Your email address will not be published.