RAHUL GHANDHI

जासूसी कांड को लेकर विपक्ष संसद के अंदर और दोनों जगह सरकार पर हमला बोल रहा है. विपक्ष ने सरकार को सदन के अंदर घेरने की रणनीति बनायी. उसके बाद सभी विपक्षी दलों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सरकार पर निशाना साधा.

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा- हम पेगासस पर चर्चा चाहते हैं. सरकार पेगासस पर चर्चा करने से मना कर रही है. स्पष्ट तौर पर सरकार ने कुछ ग़लत किया है, स्पष्ट तौर पर सरकार ने कुछ ऐसा किया है जो देश के लिए ख़तरनाक है. वरना वे कहते कि आइए और चर्चा कीजिए.इस हथियार को आतंकवादियों के खिलाफ, देशद्रोहियों के खिलाफ प्रयोग किया जाना चाहिए। हम नरेंद्र मोदी से सवाल पूछना चाहते हैं कि इस हथियार का इस्तेमाल लोकतंत्र के खिलाफ क्यों किया गया?… पेगासस पर चर्चा होने से पहले हम कहीं नहीं जाएंगे.

राहुल गांधी ने कहा-हमारी आवाज़ को संसद में दबाया जा रहा है, हमारा एक सवाल है कि क्या केंद्र सरकार ने पेगासस को खरीदा था कि नहीं? क्या केंद्र सरकार ने उसका इस्तेमाल अपने देश के लोगों के ख़िलाफ़ किया था कि नहीं? हम यह जानना चाहते हैं.

तो विपक्ष के आरोपों पर भाजप प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि- राहुल गांधी ने कहा है कि उनके फोन में पेगासस नाम का हथियार डाल दिया गया है। अगर हथियार डाल दिया गया तो इतने दिन तक राहुल गांधी चुप क्यों बैठे रहे? इसपर उन्होंने FIR दर्ज़ की क्या? कोई हथियार नहीं है। जो चीज़ नहीं है उसका हथियार बनाकर इन्हें संसद को रोकना है.

By Newzzar

Leave a Reply

Your email address will not be published.