Rathyatra

कोरोना के बीच दो साल के अंतराल के बाद अहमदाबाद शहर में भगवान जगन्नाथ की 144वीं रथयात्रा आज से शुरू हो गई है. सुबह चार बजे से मंगला आरती के साथ पारंपरिक अनुष्ठान की शुरुआत हुई. मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने मंदिर परिसर में पारंपरिक तरीके से सोने की झाड़ू से रथयात्रा का उद्घाटन किया. 144 साल के इतिहास में पहली बार भगवान नागराचार्य बिना भक्तों के निकले हैं.

144 साल के इतिहास में पहली बार भगवान नगरचर्या पर बिना भक्तों के निकले हैं. एक समय रथ के चारों ओर लाखों की संख्या में लोग जमा होते थे, जबकि इस वर्ष पारंपरिक मार्ग पर ही लोगों ने खिड़की से और छत से भी भगवान को देखा है.

लोगों ने सीढ़ियों पर और पोल की नाक से भगवान को देखा

भगवान में तीन रथ समय से दो घंटे आगे चल रहे हैं. वहीं सरसपुर में दहलीज पर और पोल की नाक से लोगों ने भगवान के दर्शन किए. रथयात्रा के दिन कर्फ्यू के चलते अलग-अलग इलाकों में नियंत्रण है. उस समय कालूपुर गेट के पास रेलवे स्टेशन से आने-जाने वाले पर्यटकों के लिए पुलिस ने मानवीय रवैया अपनाया है.

पुलिस वाहनों में सवार हजारों स्थानीय पुलिस ने पर्यटकों को निकालने में मदद की, जिससे फंसे हुए पर्यटकों में खुशी और खुशी का माहौल है.

By Newzzar

Leave a Reply

Your email address will not be published.