rathyatra

गांधीनगर : गृह राज्य मंत्री प्रदीपसिंह जडेजा ने आज रथ यात्रा को लेकर बड़ा ऐलान किया. उन्होंने कहा कि रथयात्रा से लाखों लोगों की आस्था जुड़ी हुई है. कोविड प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करते हुए रथयात्रा निकाली जाएगी. अहमदाबाद में जगन्नाथ मंदिर के महंत दिलीपदासजी महाराज ने सरकार की घोषणा का स्वागत किया और सरकार को धन्यवाद दिया.

उन्होंने कहा कि वर्तमान में 1 प्रतिशत की सकारात्मकता दर के साथ 60,000 लोगों का परीक्षण किया जा रहा है. कोरोना से किसी की मौत की सूचना नहीं है. अहमदाबाद में 13 मामले ऐसे हैं जहां रिकवरी रेट ज्यादा है. सभी शर्तों का अध्ययन कर और मुद्दे पर आधारित दिशा निर्देश देकर रथयात्रा की शुरुआत कोविड प्रोटोकॉल के रख-रखाव से होती है ताकि कोरोना का प्रसार न बढ़े. कड़ी व्यवस्था के साथ गाइडलाइन होगी रथयात्रा. प्रसाद का वितरण प्रतिबंधित है. जिस रास्ते से रथयात्रा निकलेगी उस रास्ते पर कर्फ्यू रहेगा.

उन्होंने कहा कि जब तक रथयात्रा मंदिर से निकलकर मंदिर नहीं लौटती, तब तक कर्फ्यू लगा रहेगा. ऐतिहासिक रथ यात्रा में मंगला आरती में गृह मंत्री अमित शाह मौजूद रहेंगे. विजय रूपाणी की मौजूदगी में सीमित संख्या में लोगों की मौजूदगी में रथ प्रस्थान पहिंदविधि रवाना होगी. राज्य सरकार आगे की योजना बना रही है, मैं कोरोना या सड़क के अन्य हिस्सों में आने वाले लोगों से अनुरोध करता हूं कि पूरी रथयात्रा को दूरदर्शन द्वारा लाइव कवर किया जाएगा.

“यहां तक ​​​​कि सामूहिक भोजन का भी आयोजन नहीं किया जाएगा,” उन्होंने कहा. कोई सड़क पर आकर देख नहीं पाएगा. लोगों से केवल लाइव कवरेज देखने का अनुरोध किया है. यात्रा पर सिर्फ 5 वाहन होंगे. नाविकों से 48 घंटे पहले कोरोना का परीक्षण किया जाएगा. रथ पर केवल पुजारी ही उपस्थित हो सकते है. फेस कवर मास्क का पालन करना होगा. भजन मंडली के लिए गजराज अखाड़ों की अनुमति नहीं है. रथयात्रा से पहले सीएम मंदिर जाएंगे और शाम को आरती करेंगे.

By Newzzar

Leave a Reply

Your email address will not be published.