MODI

मोदी सरकार के ये नए 15 कैबिनेट मंत्री

नारायण तनु राणे, सर्बानंद सोनोवाल, डॉ. वीरेंद्र कुमार, ज्योतिरादित्य सिंधिया, रामचंद्र प्रसाद सिंह, किरण रिजिजू, राजकुमार सिंह, हरदीप सिंह पुरी, मनसुख मांडविया, भूपेंद्र यादव, पशुपति पारस, जी किशन रेड्डी, पुरुषोत्तम रूपाला, अनुराग सिंह ठाकुर, अश्विनी वैष्णव.

ये हैं मोदी सरकार के 28 नए राज्य मंत्री

एल मुरुगन, पंकज चौधरी, अनुप्रिया सिंह पटेल, सत्यपाल सिंह बघेल, राजीव चंद्रशेखर, नीतीश प्रमाणिक, भानुप्रताप सिंह वर्मा, दर्शना विक्रम जारदोश, मीनाक्षी लेखी, अन्नपूर्णा देवी, ए नारायणस्वामी, कौशल किशोर, अजय भट्ट, बीएल वर्मा, भगवत कृष्णकाव कराद, राजकुमार रंजन सिंह, भारती प्रवीण पवार, कपिल मोरेश्वर पाटिल, प्रतिमा भौमिक, शोभा करंदलाजे, महेंद्रभाई मुंजापारा, अजय कुमार, देव सिंह चौहान, भगवंत खुबा, विश्वेश्वर टुडू, शांतनु ठाकुर, सुभाष सरकार, जॉन बर्ला.

डॉ हर्षवर्धन, रविशंकर प्रसाद और प्रकाश जावड़ेकर का इस्तीफा

स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन, सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद, सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर, शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल “निशंक” और रसायन और उर्वरक मंत्री डीवी सदानंद गौड़ा समेत कई केंद्रीय मंत्रियों ने बुधवार शाम को कैबिनेट फेरबदल से पहले इस्तीफा दे दिया. कोविड संकट से निपटने और कोरोना वायरस की दूसरी लहर के बीच लोगों को ऑक्सीजन और स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए संघर्ष करने जैसी परिस्थितियों को लेकर विपक्ष ने डॉ हर्षवर्धन की काफी आलोचना की थी. हर्षवर्धन खुद एक डॉक्टर हैं और वह स्वास्थ्य मंत्रालय के साथ-साथ विज्ञान के प्रभारी थे. कोविड महामारी की शुरुआत और भारत के टीके विकसित करने के लिए काम शुरू करने के समय से ही विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री के तौर पर काम कर रहे थे.

रविशंकर प्रसाद सरकार के नए आईटी नियमों की अगुवाई कर रहे थे. इन नियमों को लेकर सरकार और ट्विटर आमने-सामने है. वहीं प्रकाश जावड़ेकर का इस्तीफा भी चौंकाने वाला कदम साबित हुआ. जावड़ेकर सरकार के प्रवक्ता भी थे.

By Newzzar

Leave a Reply

Your email address will not be published.