rathyatra

रिपोर्ट- निधि भट्ट: हम सब जानते हे हर साल जगन्नाथजी की रथयात्रा निकलती हे, पर इस बार कोरोनाकी वजहसे स्थिति अस्पष्ट दिखाई दे रही है सरकाने अभी तक कोई निर्णय नहीं लिया है, तो एक तरफ मंदिर के प्रशासन, पोलिस और कॉर्पोरेशनने रथयात्राकी तैयारी शुरू कर दी है. मंदिर के महंतका केहना हे की रथयात्रा ६ घंटे में पूरी करदी जायेगी और इसके लिए रथ को खींचने के लिए ४० खलासी की सूची भी तैयार की गई है.

रथयात्रामे जुड़ने वाले लोग वेक्सिनेटेड हो ये भी खास जरूरी है इसलिए खलासीकी जो सूची तैयार हुई है उनको वेक्सिन देने की कामगीरी चल रही है ८५% खलासीओ को वेक्सिन दी जा चुकी है , जबकी बाकी रहे १५% खलासीओ को भी २ दिन में वेक्सिन दी जायेगी मंदीरके ट्रस्टी का कहेना हे जिन्होंने वेक्सिन ली ही उनको ही रथ खींचने का अवसर दिया जाएगा.

हर साल रथयात्रा कड़ी सुरक्षा के साथ निकलती हे जिसमे १३ हजार पुलिस जवान, ट्राफिक पुलिस, hom गार्ड्ज ओर SRP, RRF जैसी ४० कंपनिया भी तैनात रहती है और दूसरे शहरके पुलिस अधिकारी – सुरक्षाकर्मी मिलके २० से २५ हजार पुलिसकर्मी बंदोबस्तमें तैनात रहेते है.

म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन और पुलिसतंत्र ने भी जोरोशोरों से तैयारी शुरू करदी हे रथयात्रा के मार्गमे आनेवाले जर्जरीत मकानों को भी नोटिस दे दी गई और दूसरी ओर मंदिर प्रशासन ने रथ का कलरकाम शुरू कर दिया हे… परिस्थिति दुविधाभरी भले ही हो मंदिर का विश्वास पक्का है, अगर इस १२ जुलाई को रथयात्रा निकलती हे तो हम भगवान जगन्नाथजी से यही प्रार्थना करते हे की नागरयात्रा की समाप्ति के साथ साथ कोरोना की भी समाप्ति कर दे.

By Newzzar

Leave a Reply

Your email address will not be published.