dhumketu

हमारे सौर मंडल में कुछ ऐसा अद्भुत हो रहा है जो हमने पहले कभी नहीं देखा, ऑर्ट क्लाउड से एक धूमकेतु तेजी से आगे बढ़ रहा है,ऑर्ट क्लाउड को हमारे सौर मंडल में सबसे दूर माना जाता है, वैज्ञानिकों ने शुरू में सोचा था कि यह एक बहुत छोटा धूमकेतु है क्योंकि यह चित्रों में एक छोटे से बिंदु जैसा दिखता है.यह तस्वीर चिली में केरो टोलोलो इंटर अमेरिकन ऑब्जर्वेटरी में एक डार्क एनर्जी कैमरे से ली गई थी.

बाद में पता चला कि जो एक छोटी बिंदी के रूप में दिखाई देता है वह वास्तव में एक विशालकाय धूमकेतु है. धूमकेतु का नाम धूमकेतु C/2014 UN271 या बर्नार्डिनेली-बर्नस्टीन है.

इसका नाम इसके आविष्कारक, पेड्रो बर्नार्ड इनेली, पेन्सिलवेनिया विश्वविद्यालय में स्नातक छात्र और खगोलशास्त्री गैरी बर्नस्टीन के नाम पर रखा गया है. वर्तमान गणना के अनुसार धूल और बर्फ से भरा यह धूमकेतु 99 से 201 किलोमीटर लंबा है.

धूमकेतु लगभग 100 किलोमीटर चौड़ा बताया जाता है, माना जा रहा है कि यह धूमकेतु 23 जनवरी 2031 तक सूर्य की कक्षा में पहुंच सकता है. एक और खास बात यह है कि इस नजारे को पृथ्वी से एक अच्छे टेलीस्कोप की मदद से देखा जा सकता है. इस बार यह शनि की कक्षा से थोड़ा ऊपर होगा.अब तक का सबसे बड़ा धूमकेतु सूर्य के निकट आ रहा है, 10 साल बाद यानी 2031 में हम इसे दूरबीन की सहायता से पृथ्वी से ही देख सकेगें.इस धूमकेतु आकार का 62-125 मील तक होने का अनुमान है.

धूमकेतु पहली बार 2014 में दिखाई दिया

हार्वर्ड और स्मिथसोनियन सेंटर फॉर एस्ट्रोफिजिक्स के खगोलशास्त्री पीटर वर्साचे के अनुसार, इस विशालकाय धूमकेतु का अध्ययन करने के लिए हमारे पास कई साल हैं. धूमकेतु को पहली बार 2014 में डॉर्क एनर्जी कैमरे पर देखा गया था. तब से बर्नार्डिनेली और बर्नस्टीन लगातार इसकी निगरानी कर रहे हैं, 2015, 2016, 2017 और 2018 में लगातार इसकी निगरानी की गई.

By Newzzar

Leave a Reply

Your email address will not be published.