There has been news of relief in the fight against Corona

कोरोना की तीसरी लहर में बड़ी संख्या में बच्चों के संक्रमित होने की आशंका को देखते हुए वडोदरा शहर-जिले में सरकारी-निजी अस्पतालों और डॉक्टरों द्वारा तैयारी शुरू कर दी गई है. विशेष रूप से आईसीयू बेड की संख्या बढ़ाने पर विशेष जोर दिया जा रहा है.

सरकारी अस्पतालों एसएसजी और गोत्री अस्पताल में भी विशेष तैयारी शुरू कर दी गई है. इन दोनों सरकारी अस्पतालों के आईसीयू में विशेष पेंटिंग तैयार की गई है. जबकि रिकवरी रूम में विभिन्न खिलौने हैं जो बच्चों को पसंद आते हैं और एक कमरे में एक टीवी है.

इस नई क्षमता के लिए राज्य सरकार को अस्पतालों को वेंटिलेटर, हाई फ्रीक्वेंसी, इन्फ्यूजन पंप जैसे जरूरी उपकरण मुहैया कराने को कहा गया है. यह भी पूछा जा रहा है कि क्या अस्पताल के पास फायर एनओसी है या नहीं.

पता चला है कि इन सभी मामलों में डॉक्टरों ने जिला प्रशासन से भी मदद मांगी है. वडोदरा के निजी अस्पताल में फिलहाल बच्चों के लिए करीब 2000 बेड हैं.वहीं सरकारी अस्पतालों में बेड की संख्या 50 से बढ़ाकर 200 की जा रही है. तीसरी लहर में कितने बाल रोगी हो सकते हैं, यह निर्धारित करने के लिए चिकित्सकों का एक सर्वेक्षण वर्तमान में चल रहा है.

By Newzzar

Leave a Reply

Your email address will not be published.