MIS-C disease

गुजरात में कोरोना के बाद अब राज्य में बच्चों में काला फंगस और पोस्ट-कोविड बीमारी एमआईएस-सी (मल्टी सिस्टम इंफ्लेमेटरी सिंड्रोम) देखने को मिल रही है, एक लाख बच्चों को प्रभावित करने वाली और पश्चिमी देशों में भी यह बीमारी अब गुजरात में भी प्रवेश कर चुकी है, राज्य में इस तरह के पहले डेढ़ महीने के पहले बच्चे को एमआईएस-सी बीमारी के इलाज के लिए अहमदाबाद के मेमनगर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

जन्म के 12 घंटे बाद ही बच्चे को यह बीमारी हो गई, फिलहाल बच्चा ऑक्सीजन पर है, गर्भावस्था से डेढ़ महीने पहले मां को कोरोना हुआ था, जिससे बच्चे को जन्म के साथ एमआईएस-सी हो गया था,बच्चों में इस बीमारी की बढ़ती संख्या डॉक्टरों और बच्चों के माता-पिता के बीच चिंता का विषय बनती जा रही है.

उल्लेखनीय है कि हाल ही में राजकोट में एमआईएस-सी के 100 से अधिक मामले सामने आए हैं.

यह रोग मां के गर्भ में पल रहे शिशुओं में भी पाया गया है.अहमदाबाद में वैष्णोदेवी सर्कल के पास रहने वाली एक महिला ने बच्चे को जन्म दिया और बच्चे को जन्म के 12 घंटे के भीतर बुखार हो गया.नवजात को बुखार होने का पता चलने के डेढ़ महीने पहले ही उन्हें कोरोना हुआ था. बुखार और लक्षणों के साथ बच्चे का एमआईएस-सी के लिए इलाज किया गया. फिलहाल बच्चे को इलाज के लिए आईसीयू में ऑक्सीजन पर रखा जा रहा है.

बच्चों में एमआईएस-सी रोग के लक्षण

  • बुखार
  • बच्चा लगातार रोता है
  • बच्चा शर्मिंदा है
  • बच्चा दूध नहीं पीता
  • दस्त-उल्टी

By Newzzar

Leave a Reply

Your email address will not be published.