MARRIGE

कोरोना वायरस की महामारी अभी कम नहीं हुई है, फिर भी लोग यह समझने को तैयार नहीं हैं कि यह महामारी कितनी घातक है. कोरोना की दूसरी लहर से गांवों की हालत दिन-ब-दिन बिगड़ती जा रही है. राजस्थान के गांवों की स्थिति देश के अन्य गांवों की तरह ही है. स्वास्थ्य व्यवस्था बुरी तरह विफल हो रही है, फिर भी लोग इसे नजर अंदाज करते नजर आ रहे हैं. ज़ुंज जिले के सल्लू कला गांव में एक शादी में शामिल 150 लोगों के कोरोना पॉजिटिव होने की सूचना मिली थी, जिनमें से 95 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है.

इतना ही नहीं शादी के दौरान दुल्हन के पिता की भी मौत हो चुकी है. घटना के बाद आसपास के गांवों में भी दहशत का माहौल है.

पहले कोरोना पर विश्वास नहीं हुआ और अब भय का माहौल

गांव सल्लू कला के रहने वाले सुरेंद्र शेखावत का कहना है कि जब उन लोगों के कोरोना की जांच की गई तो गांव के 95 लोग संक्रमित मिले. 25 अप्रैल को तीन शादियां थीं, इस दौरान दुल्हन के पिता की भी मौत हो गई. पहले ग्रामीणों का मानना ​​था कि कोरोना जैसी कोई बात नहीं है और खुलेआम घूमते थे, जब सभी की जांच की गई तो 95 लोग संक्रमित पाए गए. अब गांव में दहशत का माहौल है और लोग अपने-अपने घरों में बैठे हैं.

शादी में सिर्फ 11 लोगों को शामिल होने की इजाजत है

गांव में फिलहाल सन्नाटा पसरा है, सड़कें सूनी हैं, बच्चों को घर के अंदर बंद कर दिया जाता है और लोग काम करने के बाद ही बाहर निकलते हैं, राजस्थान सरकार ने सिर्फ 11 लोगों को शादी में शामिल होने की इजाजत दी है. नियम तोड़ने पर एक लाख रुपये जुर्माने का भी प्रावधान है. फिर भी लोग इस नियम की पूरी तरह से अनदेखी कर रहे हैं. इसका खामियाजा दूसरे लोगों को भुगतना पड़ता है.

By Newzzar

Leave a Reply

Your email address will not be published.