The impact of the storm in Rajkot

ताउते चक्रवात के चक्रवात से देश अभी बहार भी नहीं है कि एक दूसरे चक्रवात की आने की संभावना शुरू हो गई है. इस बार देश के पूर्वी तट से सटे बंगाल की खाड़ी में ‘यास’ तूफान की आने का अलर्ट जारी किया गया है. इसके मद्देनजर कोस्टगार्ड फिर से तैयार हो गया है और अंडमान निकोबार से लेकर ओडिसा और पश्चिम बंगाल के मछुआरों को 22-26 मई के बीच समंदर में ना जाने की चेतावनी दी है. साथ ही इस दौरान कॉमर्शियल-जहाज और कार्गो-शिप्स को भी अलर्ट जारी किया गया है.

22 मई से उत्तरी अंडमान निकोबार से सटे समंदर में लो-प्रेशर बनना शुरू होगा, जो 24 मई तक ओडिसा से सटे समंदर में एक तीव्र तूफान का रूप ले सकता है. ये तूफान 26 मई को ओडिसा और पश्चिम बंगाल के तट से टकराने की संभावना है.

मौसम विभाग के अलर्ट के बाद कोस्टगार्ड के जहाज, एयरक्राफ्ट और हेलीकॉप्टपर बंगाल की खाड़ी में उतर गए हैं और समंदर से लेकर आसमान तक से मछुआरों को 22 मई से पहले किनारे तक पहुंचने की घोषणा कर रहे हैं.

By Newzzar

Leave a Reply

Your email address will not be published.