rain

राज्य में महुवा के ऊना, दीव, जाफराबाद और भावनगर ताऊ-ते तूफान से तबाह हो गए हैं. तूफान ने 45 लोगों की जान ले ली और कई बेघर हो गए. इसके बाद मुख्यमंत्री रूपाणी की अध्यक्षता में कोर कमेटी की एक उच्च स्तरीय बैठक हुई जिसमें ताऊ-ते तूफान से उत्पन्न स्थिति पर चर्चा की गई. मुख्यमंत्री ने तब घोषणा की कि इस तूफान के कारण मरने वालों के उत्तराधिकारियों को गुजरात सरकार द्वारा 4 लाख रुपये प्रदान किए जाएंगे.

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह सहायता भारत सरकार द्वारा घोषित 2 लाख रुपये की सहायता के अतिरिक्त प्रदान की जाएगी. इस तरह राज्य में तूफान से मरने वालों के वारिसों को कुल 6 लाख रुपये की सहायता मिलेगी.

घायलों को कुल 1 लाख रुपये की सहायता

इसके अलावा, राज्य सरकार ताऊ-ते तूफान में घायल हुए लोगों को 50,000 रुपये की सहायता प्रदान करेगी.यह सहायता राज्य सरकार द्वारा प्रधानमंत्री द्वारा घोषित सहायता के अलावा प्रदान की जाएगी, यानी तूफान में घायल हुए लोगों को कुल 1 लाख रुपये की सहायता प्रदान की जाएगी.

1000 करोड़ रुपये की मदद के लिए पीएम को धन्यवाद: सीएम

साथ ही मुख्यमंत्री रूपाणी ने गुजरात में आई तूफान आपदा के बाद तत्काल राहत सहायता के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा की गई 1000 करोड़ रुपये की घोषणा का स्वागत किया और पीएम और भारत सरकार को धन्यवाद दिया. मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुजरात में आई इस आपदा सहित, जब भी जरूरत पड़ी, उदार सहायता प्रदान करके गुजरात की आपदाओं में उसके साथ खड़े रहे हैं.मुख्यमंत्री रूपाणी ने विश्वास व्यक्त किया है कि प्रधानमंत्री द्वारा गुजरात को दी गई सहायता इस तूफान के बाद भी एक और राहत होगी.

प्रभावित क्षेत्रों के पुनर्वास की अत्यावश्यकता

मुख्यमंत्री विजय रूपाणी की अध्यक्षता में हुई कोर कमेटी की उच्च स्तरीय बैठक में सड़क निर्माण ऊर्जा सहित विभागों के सचिवों से प्रदेश में तूफान ताऊ से उत्पन्न स्थिति पर विस्तार से विचार करने के साथ ही प्रभावितों का पुनर्वास व बहाली करने का आग्रह किया गया.

By Newzzar

Leave a Reply

Your email address will not be published.