CM RUPANI
  • तूफान लैंडफॉल की गति 150 से 175 किलोमीटर प्रति घंटे के बीच थी
  • राज्य भर के 35 तालुकों में 1 इंच से अधिक बारिश हुई
  • कुल 2437 गांवों का विद्युतीकरण किया गया, जिनमें से 484 गांवों को बहाल कर दिया गया है.
  • वापी, राजकोट और गरियाधर 1-1 थे और कुल 3 लोगों की मौत

गुजरात में ताऊ-ते तूफान को लेकर आज सुबह महेसूल विभाग के एसीएस पंकज कुमार ने मुख्यमंत्री के साथ प्रेस कांफ्रेंस की. उन्होंने कहा कि फिलहाल तूफान की रफ्तार 100 किलोमीटर प्रति घंटा है. साथ ही इसका असर अहमदाबाद जिले और ढोलका में भी देखने को मिल रहा है. तूफान की स्थिति शाम तक बनी रहेगी.

उन्होंने कहा- हालांकि व्यवस्था की सतर्कता से कोई बड़ा हादसा नहीं हुआ है.सबसे ज्यादा चिंता कोविड मरीजों की थी. हमें गुजरात से दूसरे राज्यों में ऑक्सीजन पहुंचाने में कोई दिक्कत नहीं है. ताऊ ते तूफान को लेकर कोर्पोरेशन सज्ज है.

हवा की रफ्तार फिलहाल 100-105 किमी

मुख्यमंत्री विजय रूपानी ने कहा कि तूफान आगे बढ़ रहा है. हवा इस समय 100 से 105 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चल रही है. घंटों तक हंगामा होता रहा और कई बातें चिंताजनक रही. लेकिन व्यवस्था की तैयारी से कोई बड़ा हादसा नहीं हुआ है. तैयारी के कारण सब कुछ सुनियोजित है, कल हवा की गति 160 किमी थी. सबसे बड़ा चिंता कोरोना दर्दीयों की थी. लेकिन हमें गुजरात से दूसरे राज्यों में ऑक्सीजन पहुंचाने में कोई दिक्कत नहीं है.

16500 कच्चे घरों को चक्रवात से नुकसान

उन्होंने आगे कहा कि समस्या भावनगर में ऑक्सीजन प्लांट में बिजली कटौती के कारण थी. अस्पताल में जहां जनरेटर लगे थे, वहां 16 जगहों पर बिजली आपूर्ति बहाल कर दी गई. वर्तमान में 2437 गांव बिना बिजली के थे, जिसमें 484 गांवों को पूर्ववत कर दिया गया है, 220 केवी स्टेशनों को बंद कर दिया गया है जहां कामगीरी जारी है.अब तक 1081 खंभे, 40 हजार पेड़ गिर चुके हैं, 196 सड़कें बंद रहीं, 16500 कच्ची इमारतें प्रभावित हुईं, जिनका सर्वे जारी है.

100 से अधिक तेज हवाएं चल रही हैं.वर्तमान में 35 तालुकों में 1 इंच बारिश हो चुकी है. बगसरा में 9 इंच, ऊना में 8 इंच, सावरकुंडला में 8 इंच, अमरेली व आसपास के क्षेत्रों में 5 इंच की बारिश हुई. हम कंट्रोल रूम से सभी के संपर्क में हैं, अब तक 3 की मौत हो चुकी है. जिसमें गरियाधर में 1 वापी, 1 राजकोट और एक 80 वर्षीय की मौत हो गई.

कल सुबह तक कम होगा तूफान का असर

पंकज कुमार ने आगे कहा कि कल सुबह तक तूफान का असर कम होगा. अभी तक बहुत सीमित नुकसान हुआ है, दोपहर 1.30 बजे राज्य में पूर्ण तूफान आया है. अमरेली, गिर सोमनाथ, पोरबंदर, राजकोट, भावनगर और बोटाद में तेज हवाएं चल रही थीं, अहमदाबाद जिले के धंधुका के ढोलका में भी हवा चली. यह सिलसिला शाम तक चलेगा। हमें रात तक सतर्क रहना है. तूफान धीमा होने के बाद सहायता प्रदान की जाएगी.

By Newzzar

Leave a Reply

Your email address will not be published.