Biden

भारत में कोरोना टीका मुख्य हथियार बन गया हैं क्योंकि कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं और स्थिति बिगड़ रही है. हालाँकि अभी तक अमेरिका टीकाकरण अभियान में एक बड़ी बाधा बन गया था, वैक्सीन बनाने के लिए इस्तेमाल होने वाले कच्चे माल के निर्यात पर अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडन ने प्रतिबंध लगा दिया था. यही कारण है कि टीका निर्माताओं के लिए कठिन समय हो रहा था लेकिन अब अमेरिका ने भारत को राहत दी है.

अब अमेरिकी राष्ट्रपति की ओर से एक बड़ा बयान भी आ गया है. जिसमें उन्होंने भारत को मदद देने की प्रतिबद्धता को दोहराया है. अमेरिकी राष्ट्रपति ने ट्वीट करते हुए कहा है – महामारी की शुरुआत में जब हमारे अस्पतालों पर भारी दबाव था उस समय भारत ने अमेरिका के लिए जिस तरह सहायता की थी, उसी तरह भारत की जरूरत की समय में मदद करने के लिए हम प्रतिबद्ध हैं.

अमेरिका ने कहा है कि वह भारत को वैक्सीन बनाने के लिए आवश्यक हर कच्चे माल की आपूर्ति करेगा. उन्होंने यह भी कहा कि फ्रंटलाइन श्रमिकों को बचाने के लिए एक त्वरित रैपिड डायग्नोस्टिक टेस्ट किट, वेंटिलेटर और पीपीई किट अमेरिका से उपलब्ध कराया जाएगा. यह उल्लेखनीय है कि टीके बनाते समय कच्चे माल जैसे बैग, फिल्टर, कैप की आवश्यकता होती है. इसका अधिकांश निर्यात संयुक्त राज्य अमेरिका से होता है.

संयुक्त राज्य अमेरिका से पिछले महीने वैक्सीन के लिए कच्चे माल के निर्यात पर प्रतिबंध लगाने के फैसले ने दुनिया भर में विरोध हुआ था. सीरम इंस्टीट्यूट के निदेशक अदार पूनावाला ने अमेरिका से तुरंत प्रतिबंध हटाने और कोरोना लड़ाई में सक्रिय भूमिका निभाने की अपील की थी.

By Newzzar

Leave a Reply

Your email address will not be published.