Corona Vaccine

एक तरफ देश में कोरोना के बढ़ते मामले से लोगों में डर पैदा हो रहा है. तो दूसरी ओर टीकों की कमी के कारण टीकाकरण अभियान धीमा हो गया है. सरकार ने उत्पादन बढ़ाने पर जोर दिया है. इस बीच, एक आरटीआई से पता चला है कि देश में अब तक वैक्सीन की 44 लाख से अधिक खुराक बर्बाद हो चुकी हैं.

इन राज्यों में सबसे अधिक बर्बाद हुइ वैक्सीन

सूचना अधिकारी आरटीआई के तहत मिली जानकारी के अनुसार, इस साल जनवरी में शुरू हुए टीकाकरण अभियान में अब तक 4.4 मिलियन से अधिक खुराक बर्बाद हो चुकी है. तमिलनाडु में पहले 12.10% खुराक का नुकसान हुआ. इसके बाद हरियाणा में 9.74%, पंजाब में 8.12%, मणिपुर में 7.8% और तेलंगाना में 7.55% थी.

अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, दमन और दीव, गोवा, हिमाचल प्रदेश, केरल, लक्षद्वीप, मिजोरम और पश्चिम बंगाल ने सबसे कम वैक्सिन बर्बाद हुइ है.

क्या मानना है जानकारों का

विशेषज्ञों का कहना है कि शुरुआती दिनों में वैक्सीन की अधिक खुराक बर्बाद करने का कारण यह था कि लोग टीकाकरण के लिए कम संख्या में आ रहे थे. वैक्सीन की एक शीशी में 10 से 12 खुराक होती हैं. शीशी खोलने के बाद, यदि इसका उपयोग एक निश्चित समय (लगभग आधे घंटे) के भीतर नहीं किया जाता है, तो यह बेकार हो जाता है.

By Newzzar

Leave a Reply

Your email address will not be published.