pm Modi Bangladesh

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज बांग्लादेश की स्वतंत्रता के स्वर्ण जयंती समारोह में बतौर मुख्य महेमान उपस्थित रहे.कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि – उन्हें भारत और बांग्लादेश की दोस्ती पर गर्व है. उन्होंने कहा, ‘यह हम सभी भारतीयों के लिए गौरव की बात है कि हमें बांग्लादेश के राष्ट्रपिता शेख मुजीब उर रहमान को गांधी शांति पुरस्कार से सम्मानित करने का मौका मिला है.’

बांग्लादेश में क्या कहा प्रधानमंत्री मोदी ने

  • बांग्लादेश के स्वाधीनता संग्राम को भारत के कोने-कोने से, हर पार्टी से, समाज के हर वर्ग से समर्थन प्राप्त था. तत्कालीन प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गांधी के प्रयास और उनकी महत्वपूर्ण भूमिका सर्वविदित है.
  • कोई भी ताकत बांग्लादेश को गुलाम नहीं रख सकती है. उन्होंने कहा कि जिन लोगों को बांग्लादेश के अस्तित्व पर शक था. बांग्लादेश के लोगों ने उन्हें गलत साबित कर दिया है.

  • बांग्लादेश की आजादी में इंदिरा गांधी का योगदान सर्वविदित है. पीएम मोदी ने कहा कि बांग्लादेश के स्वाधीनता संग्राम को भारत का समर्थन प्राप्त था. पामेरी उम्र 20-22 साल रही होगी जब मैंने और मेरे कई साथियों ने बांग्लादेश के लोगों की आजादी के लिए सत्याग्रह किया था. आजादी के समर्थन में मैंने गिरफ्तारी दी थी और जेल भी जाने का अवसर आया था.

  •  बांग्लादेश के आजादी के 50 वर्ष और भारत की आजादी के 75 वर्ष का पड़ाव, एक साथ ही आया है. हम दोनों ही देशों के लिए, 21वीं सदी में अगले 25 वर्षों की यात्रा बहुत ही महत्वपूर्ण है.
  • यहां पाकिस्तान की सेना ने जो किया, वो तस्वीरें विचलित करती थीं. सोने नहीं देती थी. मैं आज भारतीय सेना के उन वीर जवानों को भी नमन करता हूं, जो मुक्तिजुद्ध में बांग्लादेश के भाइयों-बहनों के साथ खड़े हुए थे. जिन्होंने मुक्तिजुद्ध में अपना लहू दिया, अपना बलिदान दिया और आजाद बांग्लादेश के सपने को साकार करने में बहुत बड़ी भूमिका निभाई

By Newzzar

Leave a Reply

Your email address will not be published.