maharashtra

देश में एक महीने के भीतर कोरोना के नए मरीजों की संख्या दोगुनी हो गयी है. कोरोना के इन बढ़ते मामलों के पीछे सबसे बड़ा कारण लापरवाही माना जा रहा है. कोरोना संकट की सबसे बड़ी वजह है महाराष्ट्र में बिगड़ते हालात. राज्य में स्थिति इतनी गंभीर हो गई है कि कुछ शहरों में लॉकडाउन या आंशिक लॉकडाउन तक लगाना पडा है.

महाराष्ट्र में स्थिति चिंताजनक

दूसरी लहर में सबसे ज्यादा परेशान करने वाले आंकड़े महाराष्ट्र से आ रहे हैं. भारत में कोरोना के कुल 2 लाख 19 हजार 2 सौ 62 केस हैं. महाराष्ट्र में कोरोना के कुल 1 लाख 27 हजार 4 सौ 80 केस हैं,

  • 12 मार्च को 15817 नए केस दर्ज किए गए. 

  • 13 मार्च को 15602 नए मामले आए

  • 14 मार्च को ये आंकड़ा 16620 तक पहुंच गया.

  • सोमवार को फिर थोड़ी गिरावट दर्ज की गई और आंकड़ा 15051 रहा. 

मुंबई शहर में संक्रमण के 1,713 नए मामले सामने आए, जबकि पुणे शहर में 1,122, औरंगाबाद शहर में 657, नागपुर शहर में 2,094, नासिक शहर में 671 मामले आए.

पंजाब की स्थिति भी खराब

खौफ का आलम पंजाब में भी दिखने लगा है. वहां कैप्टन अमरिंदर सरकार ने एक बार फिर बोर्ड की परीक्षाओं को स्थगित कर दिया है. पंजाब में रविवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 1,501 नए मामले सामने आए , जिसके साथ ही राज्य में संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 1,97,755 पर पहुंच गई है.

By Newzzar

Leave a Reply

Your email address will not be published.