BANK STRIKE

सरकारी बैंकों के लाखों कर्मचारी सोमवार और मंगलवार को दो दिनों की हड़ताल पर है. दो सार्वजनिक बैंकों के निजीकरण के विरोध और कई अन्य मांगों को लेकर बैंक कर्मी हड़ताल पर उतरे हैं. इस हड़ताल में ग्रामीण बैंक भी शामिल है.

यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन्स के 10 लाख कर्मचारी केंद्र सरकार की नीतियों के ख‍िलाफ पिछले महीने से ही प्रदर्शन कर रहे हैं और अब 15 और 6 मार्च को दो दिन की हड़ताल का ऐलान किया गया है. शनिवार और रविवार को भी बैंक बंद थे, इस तरह सरकारी बैंकों का कामकाज लगातार चार दिन तक ठप रहेगा. 

कौन सी सेवाओं पर पडेगा असर

  • हड़ताल की वजह से शाखाओं में जमा, निकासी, चेक क्लियरेंस, लोन मंजूरी जैसे सभी काम बंद रहेंगे
  • एटीएम सेवाएं जारी रहेंगी. वहीं हड़ताल के दौरान ऑनलाइन जैसे दूसरे ट्रांजैक्शन के विकल्प ग्राहकों के सामने उपलब्ध होंगे. 
  • ग्राहक 15 और 16 मार्च को ब्रांच जाने के बजाय यूपीआई पेमेंट सर्विसेज के जरिये भी ट्रांजैक्शन कर सकते हैं.
  • घर बैठे नेट बैंकिंग सेवाओं का भी इस्तेमाल कर सकते हैं.
  • एटीएम पर भी इस हड़ताल का असर नहीं पड़ने वाला है. यानी आपके पास कई तरह के विकल्प मौजूद हैं. हर बैंक के अपने मोबाइल ऐप हैं. 

क्यो सरकारी बेंक कर्मचारी है नाखुश

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट में IDBI Bank बैंक के अलावा दो और सरकारी बैंकों के निजीकरण का ऐलान किया था. जिसका बैंक कर्मचारी यूनियनों की ओर से विरोध प्रदर्शित किया जा रहा है.

By Newzzar

Leave a Reply

Your email address will not be published.