ISRO

आत्मनिर्भर भारत के लिए आज ऐतिहासिक दिन है. अतंरिक्ष में भी जय हिंद गूंजेगा, सुबह 10 बजकर 24 मिनट पर श्रीहरिकोटा से PSLV-C51/Amazonia-1 की सफलतापूर्वक लॉन्चिंग हुइ है. यह भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) का 2021 में पहला प्रक्षेपण है. 

इसके साथ 18 दूसरे कॉमर्शियल सैटेलाइट्स को भी प्रक्षेपित किया गया. इनमें एक सैटेलाइट स्पेस किड्ज इंडिया ने बनाया है.स्पेस किड्ज इंडिया ने एक एसडी कार्ड में भगवद् गीता की इलेक्ट्रॉनिक प्रति को अंतरिक्ष में भेजने के लिए सुरक्षित किया है.एवं इसमे प्रधानमंत्री मोदी की तसवीर भी रखी गई है.

अमिताभ बच्चन की तबीयत बिगड़ी, होगी सर्जरी, बिग बी ने सोशल मीडिया पर दी जानकारी

 ईसरो ने कहा कि अमेजोनिया-1 उपग्रह की मदद से अमेजन क्षेत्र में वनों की कटाई और ब्राजील में कृषि क्षेत्र से संबंधित अलग-अलग विश्लेषणों के लिए यूजर्स को रिमोट सेंसिंग डेटा प्रदान कर मौजूदा संरचना को और भी मजबूत बनाने का काम किया जाएगा.

18 अन्य सैटेलाइट्स में से चार इन-स्पेस से हैं. इनमें से तीन भारतीय शैक्षणिक संस्थानों के संघ यूनिटीसैट्स से हैं, जिनमें श्रीपेरंबदुर में स्थित जेप्पिआर इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, नागपुर में स्थित जीएच रायसोनी कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग और कोयंबटूर में स्थित श्री शक्ति इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी शामिल हैं. 

By Newzzar

Leave a Reply

Your email address will not be published.