RAHUL GHANDHI

तिरुवनंतपुरम में एक सभा में राहुल गांधी ने कहा, ‘पहले 15 सालों के लिए मैं उत्तर (भारत) से एक सांसद था. मुझे एक अलग प्रकार की राजनीति की आदत हो गई थी. केरल आने पर मुझे अलग तरह का अनुभव हुआ क्योंकि मैंने अचानक पाया कि लोग मुद्दों में रुचि रखते हैं और न केवल सतही तौर पर बल्कि मुद्दों में विस्तार से जाते हैं.”

राहुल गांधी के उत्तर और दक्षिण भारत की तुलना वाले बयान पर लगातार सवाल उठ रहे हैं. राहुल गांधी का कहना है कि उनकी उत्तर भारत के लोगों से एक अलग प्रकार की राजनीति की आदत हो गई है. 

 केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि राहुल गांधी को उत्तर भारत के लोग बहुत खोखले लगते हैं. ईरानी ने कहा, ‘एक कहावत है कि अंगुर खट्टे हैं लेकिन लोकतंत्र में एक नेता को जनता के प्रति इतनी घृणा है. एक लोकसभा क्षेत्र (अमेठी) की जनता ने बिना काम के भी राहुल गांधी के प्रति 15 साल तक उदारता दिखाई. उस लोकसभा क्षेत्र के लोगों का राहुल गांधी ने अपमान किया है.’

तो वही डॉक्टर जयशंकर ने भी राहुल के निवेदन पर आपत्ति जताइ, उन्होनें कहा-भारत का विभाजन करने की कोशिष ना करे,देश को कोई अलग नहीं कर सकता.

तो वही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी राहुल के निवेदन पर तंज कसा.उन्होने कहा -श्रीमान राहुल जी, सनातन आस्था की तपस्थली केरल से लेकर प्रभु श्री राम की जन्मस्थली उत्तर प्रदेश तक सभी लोग आपको समझ चुके हैं. विभाजनकारी राजनीति आपका राजनीतिक संस्कार है। हम उत्तर या दक्षिण में नहीं, पूरे भारत को माता के स्वरूप में देखते हैं.

By Newzzar

Leave a Reply

Your email address will not be published.