uttrakhand

उत्तराखंड आपदा के 17 दिन बित चूके है, अब तक 70 लोगों के शव और 29 मानव अंग मिल चुके हैं. जब की अभी भी 136 लोग लापता हैं. अब राज्य सरकार इन सभी लापता लोगों को मृत घोषित करने की तैयारी में है. जल्द ही इसके लिए आदेश जारी कर दिया जाएगा. ऐसा होता है तो इस आपदा में जान गंवाने वालों की संख्या बढ़कर 206 हो सकती है.

राज्य सरकार के मुताबिक, चमोली और आस-पास के इलाकों में लगातार तलाश जारी है. बड़ी संख्या में लोगों के शव बरामद हुए हैं, जबकि कुछ लोगों को सुरक्षित भी निकाला गया. इसके बावजूद अभी तक जिन लोगों की कोई जानकारी नहीं मिल रही है, उन्हें अब मृत घोषित कर दिया जाएगा.

ऋषिगंगा के ऊपर बनी झील का मुंह चौड़ा किया गया

चमोली में रैणी गांव के पास ऋषिगंगा नदी के ऊपर ग्लेशियर टूटने से बनी आर्टिफिशयल झील से अभी भी बड़ा खतरा बना हुआ है. झील का मुंह छोटा होने के चलते पानी का बहाव काफी धीमी गति से हो रहा था. इसके चलते झील टूटने का खतरा बन गया था, ITBP के जवानों ने झील के मुंह को करीब 15 फीट चौड़ा कर दिया है. यहां पानी के जमाव के चलते दबाव बनने लगा था।

ऋषि गंगा के ऊपर ग्लेशियर टूटने से बनी आर्टिफिशियल झील का इंडियन नेवी, एयरफोर्स और एक्सपर्ट की टीम ने मुआयना भी किया. डाइवर्स ने झील की गहराई मापी है. इस झील में करीब 4.80 करोड़ लीटर पानी होने का अनुमान है.

By Newzzar

Leave a Reply

Your email address will not be published.